योग से पहले क्या करे -
जब मनुष्य कोई भी कार्य करता है तो उससे पहले उसके बारे में अच्छी तरह से जनता है और तब उसकी पूर्ण रूप से तैयारी करता है इसी तरह से योग को शुरू करने से पहले उसके बारे ने जान कर उसकी तैयारी करनी चाहिए. योग के जो भी प्रकार हो हमे पहले उनके बारे में जान कर उनकी तैयारी करनी चाहिए. चाहे फिर हम आसन करे या फिर प्राणायाम,तैयारी तो सब की करनी पड़ती है स्वस्थ रहेने के लिए हमे योग का कोई भी प्रकार करे उन सब के बारे में ज्ञान होना चाहिए तथा उन सब की पूर्ण रूप से तयारी होनी चाहिए और ये बहुत ही महत्वपूर्ण है
Yoga Karne Ki Taiyari Kaise Karen | योग करने की तैयारी कैसे करें

ये साबित हो चूका है के मानव शरीर के लिए किसी भी व्यायाम से अति आवशक योगासन होते है योगासन करने से मनुष्य का शरीर निरोग, लचीला, और मजबूत बनता है क्योकि योगासन पूर्ण रूप से प्राक्रतिक है और इसी करण से योगासन किसी भी उम्र के मनुष्य द्वारा किया जा सकता है और हर मनुष्य को इसे सामान्य लाभ मिलता है योगासन करने से मनुष्य के शरीर का एक एक अंग ठीक तरह से कार्य करने में सक्षम होता है कुल योगासनों की संख्या 84 मानी जाती है ये 84 योगासन हमारे प्राचीन ऋषियों – महर्षियों द्वारा प्रक्रति से खोजे गए है और इन्ही योगासनों को करके हमारे ऋषि – महर्षि हजारो सालो तक स्वस्थ व निरोगे रहते थे इन 84 योगासनों में हमारी बड़ी से बड़ी बीमारी का ईलाज है कुछ बिमारिय तो ऐसी है जिनके लिए हमे चिकित्सक भी योग की सलहा देते है.

आज के समय में मनुष्य ने योग की जगह वेट – लिफ्टिंग (Gym) को दे दी है. वेट – लिफ्टिंग एक ऐसा व्यायाम है जो मनुष्य के शरीर पर एक दम काफी सारा बोझ डाल देता है जिसके कारण हमारे शरीर की मास पेसिया दब जाती है वेट – लिफ्टिंग में दोरान नर व मादा के बिच परिवर्तन करना पड़ता है वेट – लिफ्टिंग करते वक्त मनुष्य की उम्र को भी ध्यान में रखना पड़ता है वेट – लिफ्टिंग के दोरान मनुष्य को अपने खाने पीने का भी विशेष ख्याल रखना पड़ता है और यदि वेट – लिफ्टिंग करना छोड़ दे तो मनुष्य का शरीर फिर से पुराने जैसा हो जाता है जबकि आप अगर योगासन करते है तो आप को ऐसा कुछ करने की आवशकता नै होती है योगासन न ही आप पर बहुत सारा बोझ डालता है और न ही नर मादा के बिच कोई परिवर्तन करना पड़ता है ( केवल गर्भावस्था को छोड़ के ) और यदि आप योगासन करना छोड़ भी देते है तो आप का शरीर वैसा ही रहता है जैसा की वो है योगासन छोड़ने से आप के शरीर में कोई भी बदलाव नहीं आता है.

योगासन करना पूर्ण रूप से सरल है इसमें मनुष्य के शरीर को किसी भी पारकर की हनी, चोट, या नुकसान नहीं होता है योगासन सभी प्रकार के रोगों को दूर करने वाला एक पूर्ण रूप से सुरक्षित और सरल व्यायाम है जिसे करने से मनुष्य के शरीर स्वस्थ और सुन्दर बनता है योगासन करने से मनुष्य के दिमाग का विकास भी पूर्ण रूप से होता है योगासन एकमात्र ऐसा व्यायाम है जो जल्दी और चमत्कारी प्रभाव देता है यदि हम योगासनों को गलत तरीको से करते है तो ही हमे इससे नुकसान हो सकता है.

Agar app hamare blog par post karna chahate hai. Ya phir koi sujhav Dena chahate hai to comment kare.