Life Me Success Kaise Ho | सफलता का अचूक मंत्र

दोस्तों नमस्कार ……इस दुनिया में हर एक इंसान Success चाहता है । शायद आप और में भी ? क्या इसे आसानी से पाया जा सकता है ? ………लेकिन ये क्या हमने तो वचपन से लेकर आज तक यही सुना है कि जिंदगी में सफल होना बहुत मुश्किल काम है । और हम लोग भी यही मानते है ……….. लेकिन अगर हम सही हैं तो ऐंसा क्यों होता है ,कि कुछ लोग हमसे भी बुरी परिस्थितियों  में पैदा हुए, हमसे भी ज्यादा कठिनाइयों का सामना किया , उनके पास भी समय हमारे बराबर था और आज वो सफल हैं ।  तो Success सफलता का आसान तरीका कौंन सा हैं???
मैंने जब इसपर बहुत सोचा तो कुछ समझ आया वही आपसे share कर रहा हूँ ।
SUCCESS का अचूक मंत्र : EXTRA EFFORTS


दोस्तों हम सभी अपने अपने Interest के हिसाब से किसी न किसी को अपना Ideal मानते हैं….. …..मन ही मन उसके जैसा बनने के सपने देखते हैं ।। और इंतजार करते है किसी चमत्कार का…… जो हमें उसके जैसा बना दे, लेकिन दोस्तों ऐंसा चमत्कार कभी नहीं हुआ ।
तो हमें करना क्या पड़ेगा ? अब में सीधी बात करता हूँ, आज हम जो कुछ भी हैं अपनी आदतों या Habits का नतीजा हैं ।

कहने का मतलव, हमारी आदतें या Habits इतनी Powerful होतीं हैं, कि ये हमारी Life बना भी सकती हैं…….. और Life को Destroy भी कर सकतीं हैं ।

आप जिसके जैसे बनना चाहते हो, उसने भी कोई सफ़र तय किया है……. तब जाकर अपनी मंजिल पर पहुंचा हैं । मतलव हम उसके जैसा बनना तो चाहते हैं पर उसने क्या किया वह करना नहीं चाहते।  ……………अगर हम अपनें Ideal जैसा बनने के सपने के सांथ सांथ उसकी आदतें या Habits भी अपना ले, तो शायद हमें भी सफलता मिल सकती है ।

वस् एक ही बात समझने की कोशिश करें जितने भी सफल लोग हैं……… उन्होंने एक लक्ष्य बनाया और हर वह काम किया जो उन्हें अपने लक्ष्य या Goal  के पास ले जाता है ।। उन्होंने जमकर Practice की , Extra Efforts लगाकर  अपने आप को बदला और बन गए  Ordinary से Extraordinary…….. कई बार वो भी हताश् हुए Reject हुए पर रुके नहीं।

दोस्तों , क्यों सफलता का दूसरा रास्ता ढूंढने में अपना समय बर्बाद करें । क्योंकि सफलता (Success) का तो एक ही आसान रास्ता है जो सफल लोगों ने तय किया है ….. उनकी habits अपनाओं और सफल हो जाओ ?

"Problem एक ही है Fitness या Hrittik Roshan की तरह Six Packs तो सभी चाहते हैं लेकिन Gym में पसीना कोई नहीं बहाना चाहता ।"
Mohammad Ali
“मैं ट्रेनिंग के हर एक मिनट से नफ़रत करता था , लेकिन मैंने कहा , हार मत मानों ।

अभी सह लो और बाक़ी की जिंदगी एक champion की तरह जियो  ।                  "Mohammad Ali "
                                                                                                 Friends, हमारा Potential पहले से ही Comfort Zone नाम के कवर में क़ैद है । इस कवर को हटा दो क्योंकि Ordinary और Extra Ordinary में फ़र्क सिर्फ ज़रा से Extra का ही है।
मतलव साफ़ है, अपने आप को Comfort Zone से बाहर निकालने के लिए थोड़ा सा Extra Efforts करें और ऐँसी Habits को अपनाएं जो हमें अपने लक्ष्य के करीब ले जाएँ । शायद यही सफलता का अचूक मंत्र  है ।

यदि आपको यह लेख अच्छा लगा , तो इसे share ज़रूर करें,और subscribe करना न भूलें ।

Post a Comment

0 Comments