मन से हारा हुआ इंसान कभी नहीं जीत सकता

किसी खेल में हारा हुआ इंसान फिर से जीत सकता है
लेकिन
मन से हारा हुआ इंसान कभी नहीं जीत
सकता
जिसको खुद पर विश्वास है...वो एक बार नहीं..हजार बार
गिरेगा...
पर फिर से उठेगा
और अंत में वही जीतेगा...
वो मैदान छोड़ कर नहीं भागेगा
वो गिरेगा और
गिरकर उठेगा...और खड़ा हो के बोलेगा...
" मैं खेलेगा....मैं खेलेगा